सैक में प्रशिक्षुता(इंटर्नशिप)

सैक अपने शैक्षिक सहभागिता कार्यक्रम (सैक-एएपी) के माध्यम से इलेक्ट्रॉनिक्स, मैकेनिकल, सिविल, विद्युत, सुदूर संवेदन और जीआईएस, गणितीय मॉडलिंग, इमेज प्रोसेसिंग, आरएफ प्रणाली, डिजिटल प्रणाली, विद्युत प्रकाशिकी, माइक्रोवेव और रडार आदि जैसे विभिन्न क्षेत्रों में छात्रों को सैक में इंटर्नशिप के लिए लिए अवसर प्रदान करता है।

1. सैक शैक्षिक सहभागिता कार्यक्रम (एसएसी-एएपी):
आंतरिक-संयंत्र प्रशिक्षण कार्यक्रम (आईटीपी) देश के विभिन्न भागों में स्थित शैक्षणिक संस्थानों के छात्रों के लिए खुला है। 2014 में इसे “सैक शैक्षिक सहभागी कार्यक्रम (सैक-एएपी)” का नाम दिया गया। सैक-एएपी छात्रों को सैक परियोजनाओं में वैज्ञानिकों/ इंजीनियरों के साथ काम करने के लिए एक अवसर प्रदान करता है और इसमें निम्नलिखित तीन योजनाएं हैं

  1. 2. कार्य अनुभव इंटर्नशिप (डब्ल्यूईआई):
    यह भारत में इंजीनियरिंग स्नातक (बीई/बीटेक) का अध्ययन करने वाले छात्रों को अपने अंतिम वर्ष/ सेमेस्टर परियोजना (कम से कम 4-6 महीने की अवधि के लिए) के काम के लिए प्रस्तावित किया जाता है।
  2. शोध लेख इंटर्नशिप (डीआई):
    यह 6-12 महीने की अवधि के लिए स्नातकोत्तर (एमई/ एमटेक/ एमएससी/ एमसीए) के छात्रों को प्रस्तावित किया जाता है जो अपने अंतिम वर्ष/ सेमेस्टर शोध प्रबंध के लिए भारत में अध्ययन कर रहे हैं।
  3. 3. अनुसंधान इंटर्नशिप (आरआई):
    यह 4-12 महीने की अवधि के लिए उन पीएचडी छात्रों को प्रस्तावित किया जाता है जो अपने शोध कार्य करने के लिए भारतीय संस्थानों में पंजीकृत हैं और यह सैक के कार्यों से संबंधित हो।
सूचना/दिशानिर्देश
छात्र निम्नलिखित सूचना/दिशा निर्देशों को ध्यान में रखें
  • लंबी अवधि के एम.टेक./एम.एससी छात्रों को प्राथमिकता दी जाती है।
  • हम कुछ स्नातक इंजीनियरिंग छात्रों को उनके अंतिम सेमेस्टर की पूर्णकालिक परियोजनाओं के लिए लेते हैं।
  • प्रशिक्षण के दौरान कोई छात्रवृत्ति/ परिवहन सुविधा प्रदान नहीं की जाती है।
  • प्रशिक्षण के दौरान कोई छात्रवृत्ति/ परिवहन सुविधा प्रदान नहीं की जाती है।
  • पुस्तकालय के उपयोग की अनुमति कार्य दिवसों में प्रदान की जाती है।
  • हमारी ओर से कोई मूल्यांकन नहीं किया जाता है। इंटर्नशिप के अंत में केवल प्रमाण पत्र जारी किया जाता है। छात्रों को केवल काम की रिपोर्ट ले जाने की अनुमति दी जाती है।
  • सैक के परियोजना मेंटर की जानकारी के बिना कोई प्रकाशन नहीं किया जाएगा।
  • पात्रता: संपूर्ण शिक्षा काल (एसएसएलसी के बाद) में न्यूनतम प्रथम श्रेणी अनिवार्य शर्त है।
  • छात्रों को इंटर्नशिप में किसी एक कार्यक्रम के लिए केवल एक मौका मिलेगा।
  • जीटीयू नियमों के अनुसार, बीई/ बीटेक छात्रों को 7वें सेमेस्टर में उद्योग परिभाषित परियोजनाओं के लिए एक सप्ताह में केवल एक बार आने की अनुमति दी जाती है। सप्ताह में केवल एक बार आने वाले बीई/ बी.टेक के 7वें सेमेस्टर के छात्रों को शामिल करने में आ रही व्यावहारिक कठिनाइयों को देखते हुए इन छात्रों को केवल 8वें सेमेस्टर में लेने का प्रस्ताव है।
  • छात्रों पर केवल उनके शैक्षणिक संस्थान के माध्यम से ही विचार किया जाएगा।
  • सामान्य पत्र या एनओसी पर विचार नहीं किया जाएगा। किसी छात्र को सैक के किसी भी अधिकारी से सीधे संपर्क नहीं करना चाहिए। किसी तरह का प्रभाव डालने की कोशिश विचारणीय नहीं होगी।
  • स्वीकृति/ अस्वीकृति केवल संबंधित संस्था को पर्याप्त समय पहले भेजी जाएगी। जनवरी सत्र के लिए दिसंबर में और जुलाई सत्र के लिए जून में सूचना भेज दी जाती है।
  • चयनित छात्रों को अपनी शाखा की विशिष्ट प्रवर्तमान अध्ययन परियोजना पर किसी वरिष्ठ वैज्ञानिक/ इंजीनियर के मार्गदर्शन में काम करने का अवसर मिलेगा। परियोजना कार्य का विषय सैक में शामिल होने के बाद सूचित किया जाएगा।
  • इच्छुक छात्र इंटर्नशिप शुरू करने से कम से कम तीन महीने पहले निम्न पते पर समेकित औपचारिक अनुरोध पत्र भेजने हेतु अपनी संस्था के संबंधित विभागाध्यक्ष/ प्रशिक्षण एवं प्लेसमेंट अधिकारी से संपर्क कर सकते हैं।
पता
प्रधान
मानव संसाधन विकास प्रभाग
अंतरिक्ष उपयोग केंद्र (इसरो)
जोधपुर टेकरा
आंबावाड़ी विस्तार (पोस्ट)
अहमदाबाद - 380 015